पर्सनल लोन लेने से पहले इन बातों का रखें ध्यान

पर्सनल लोन लेने के लिए ब्याज दर  अलग अलग होती है . इसलिए पहले ऑफर जांचे,तुलना करें  और फिर अपने लिए सबसे बेहतर  ऑफर चुने.

ईएमआई इस हिसाब से रखें कि आप किसी भी स्थिति मे उसे चुका पाएं. आपको ईएमआई  अपनी मासिक आय कि 20 फीसदी से 30 फीसदी  तक ही रखनी चाहिए.

लम्बी लोन अवधि में आपको सब मिलाकर ज्यादा रकम चुकानी पड़ती है । इसलिए यह सलाह दी जाती है कि लोन भुगतान अवधि छोटी रखें

ईएमआई कैलकुलेटर एक ऑनलाइन टूल है जिसकी मदद से आप लोन लेने से पहले उसकी ईएमआई पता कर सकते हैं.

ईएमआई कैलकुलेट करने के लिए  लोन अमाउंट, उसकी ब्याज दर, और  भुगतान अवधि बतानी होगी

पर्सनल लोन कि ब्याज दर अन्य सभी लोन  से ज्यादा होती है इसलिए उतना ही लें  जितनी ज़रूरत है 

बैंक या फाइनेंसियल संस्थान से सबसे बेहतर ब्याज दर के लिए बातचीत  करें.

सभी तरह के शुल्क और भुगतान में देरी या भुगतान न करने पर जुर्माने के बारे में जानने के लिए आपको लोन एग्रीमेंट को हमेशा ध्यान से पढना चाहिए

अपने बैंक या फाइनेंसियल संस्थान पर आँख मूँद कर भरोसा न करें क्यूंकि हो सकता है वो आपको लोन से सम्बंधित सभी तरह कि जानकारी न दें.