agarbatti business in hindi | incense stick manufacturing business

अगरबत्ती बनाने का व्यापार 2022 में शुरू कैसे करें (मशीन का मूल्य, मटेरियल, लागत, फार्मूला, कच्चा माल रेट, ट्रेनिंग सेंटर) How to start Agarbatti business in hindi 

agarbatti business एक profitable business है। हमारे देश में लोग मंदिरों में या अपने घरों में पूजा – अर्चना करते रहते हैं इसलिए अगरबत्ती का बिज़नस आपके लिए काफी मुनाफे वाला बिज़नस साबित हो सकता है। इस बिज़नस को करने के लिए आप हमारी इस पोस्ट से सारी जानकारी ले सकते हैं इसके बाद अपना खुद का बिज़नस शुरू कर सकते हैं।

agarbatti business शुरू कैसे करें (agarbatti business in hindi)

Table of Contents

agarbatti business एक कम लागत का बिज़नेस है जिसकी शुरुआत कम निवेश से भी की जा सकती है किसी भी काम को करने से पहले उसे अच्छे से समझ लेना बहुत ज़रूरी है।

आप जो भी product बनाना चाहते है, पहले उसके बारे में सब अच्छे से जानकारी ले लें। जिससे आपको अपना business शुरू करने मैं आसानी मिले और आप उस business को शुरू करके अच्छा मुनाफा कमा सके

  • सबसे पहले लागत निकाल लें के कितनी लगेगी, इसके बाद अपने अनुसार योजनाओं की सूची तैयार कर लें, जो आपके बजट के हिसाब से हो. 
  • बाजार के बारे में पता कर लें, ताकि आप व्यवसाय में आने वाली बाधाओं के बारे में पहले से योजना बना सकें. 
  • व्यवसाय का स्थान निर्धारित कर लें, और व्यवसाय को क्रियान्वित करने का समय निर्धारित कर उसे पूरा करने की कोशिश करे.
  • व्यवसाय के लिए सामग्री की खरीद, उसकी पैकिजिंग सभी चीजों को कैसे करना है इस काम की योजना पहले से तैयार कर लें. 

अगरबत्ती बनाने का मटेरियल कहां मिलता है

अगरबत्ती बनाने का मटेरियल पुरे भारत में कही भी आसानी से मिल जायेगा जैसे कि

  • कोलकाता में कृष्णा ग्रुप, दुर्गा इंजीनियरिंग, लोकनाथ अगरबत्ती इत्यादि नामक कई कम्पनी इन सामग्रियों को उपलब्ध कराती है.
  • अहमदाबाद में एम के पंचाल इंडस्ट्रीज, अमूल अगरबत्ती वर्क्स और शांति एंटरप्राइज जैसी कई कम्पनिया है जो प्रत्येक शहर में इन सामग्रियों को उपलब्ध कराती है.

आप अपने शहर के अनुसार इस तरह की कंपनियों को विभिन्न वेबसाइट के माध्यम से ढूढ़ सकते है, और सामग्रियां प्राप्त कर सकते हैं. आपको कुछ लिंक की मदद से अगरबत्ती में लगने वाली कच्ची सामग्रियों के मिलने का स्थान पता चल जायेगा, जो निम्नवत है –

agarbatti business शुरू करने के लिए स्थान

अगर आप इस बिज़नेस को छोटे स्तर पर करने की सोच रहे हैं तो इसे आप बड़ी आसानी से अपने घर से भी शुरू कर सकते हैं लेकिन अगर आप इसे बड़े स्तर पर करने की सोच रहे है तो आपको अपना बिजनेस शुरू करने के लिए लगभग 1200 स्क्वायर फीट तक की जगह की जरुरत पड़ेगी. 

यह भी पढ़े : Notebook Manufacturing Business in Hindi: कॉपी बनाने का बिज़नेस कैसे शुरू करे, जाने पूरा तरीका


अगरबत्ती बनाने में लगने वाला समय

अगरबत्ती के निर्माण का समय आपके द्वारा इस्तेमाल की गयी मशीन के अनुसार अलग हो सकता है जैसे की अगर आप ऑटोमेटिक मशीन का इस्तेमाल कर रहे है तो आप 1 मिनट में 150 से 200 अगरबत्ती तक का निर्माण कर सकते है. यदि आप हाथों से इसका निर्माण कर रहे है या करा रहे है तो इसमें लगने वाला समय आपके या कर्मचारी के कार्य करने की क्षमता पर निर्भर करता है.

agarbatti business को शुरू करने में लगने वाली कुल लागत

इस बिजनेस को आप 12,000 रूपये की लागत के साथ घरेलु तौर पर भी हाथों से निर्माण कर शुरू कर सकते है, लेकिन अगर आप अगरबत्ती के बिजनेस को मशीन बैठाकर शुरू करने की सोच रहे है तो इसको शुरू करने में लगभग 5 लाख रूपये तक की लागत लग सकती है. इसके मैन्युअल मशीन का दाम 14,000 रूपये तक है, सेमी ऑटोमेटिक मशीन का दाम 90 हजार रुपये तक है. हाई स्पीड मशीन का दाम लगभग 1.15 लाख रूपये तक है.

अगरबत्ती को बनाने में लगने वाली कच्ची सामग्री | अगरबत्ती कच्चा माल का रेट

अगरबत्ती को बनाने में लगने वाली कच्ची सामग्रियां उसकी मात्रा और उसके बाजार मूल्य को नीचे संदर्भित किया गया है जिसे जरुरत के अनुसार आप इसकी मात्रा को घटा या बढ़ा कर अपने व्यवसाय को आगे बढ़ा सकते है :

कच्ची सामग्रीमात्रामूल्य
चारकोल डस्ट1 किलो ग्राम13 रुपये 
जिगात पाउडर1 किलो ग्राम60 रुपये 
सफ़ेद चिप्स पाउडर1 किलो ग्राम 22 रुपये  
चन्दन पाउडर1 किलो ग्राम 35 रुपये 
बांस स्टिक1 किलो ग्राम116 रुपये 
परफ्यूम1 पीस400 रुपये             
डीइपी1लीटर  135 रुपये 
पेपर बॉक्स1  दर्जन   75 रुपये 
रैपिंग पेपर1  पैकेट35 रूपये 
कुप्पम डस्ट1 किलो ग्राम85 रुपये

यह भी पढ़े : manufacturing business ideas in hindi | 10 home manufacturing business ideas in hindi

अगरबत्ती को हाथ से बनाने कि प्रक्रिया (Agarbatti business manufacturing process)

सामान्यतः दो प्रकार की अगरबत्ती का उत्पादन व्यावसायिक रूप से किया जाता है एक मसाला अगरबत्ती के रूप में दूसरी सुगन्धित अगरबत्ती के रूप में. इसको बनाने के लिए अगरबत्ती प्रीमिक्स पाउडर जोकि चारकोल पाउडर, लकड़ी का पाउडर और जिगात पाउडर का मिश्रण होता है. इसे 2 किलो ग्राम की मात्रा में ले लें. फिर उसमे 1 से डेढ़ लिटर पानी की मात्रा को मिलाकर इसे कड़े रूप में गुथ लें. आप इस गुथे हुए कच्ची सामग्रियों से 2 किलो ग्राम तक अगरबत्ती आसानी से प्राप्त कर सकते है. फिर बांस की पतली स्टिक या छड़ी के ऊपर इसे चिपका दिया जाता है और हाथ से इसको रोल किया जाता है. उसके बाद इसको सुगन्धित तेल में डुबोकर कर सूखाने के बाद इसकी पैकिंग की जाती है.

अगरबत्ती को खुशबूदार बनाने की प्रक्रिया (Process of making aromatic Agarbatti) 

अगर आप खुशबूदार अगरबत्ती बनाना चाहते है, तो सुखाने के बाद अगरबत्ती को एक विशेष तरह की सुगंध वाली सामग्री में डुबोया जाता है. इसके लिए बाजार में उपलब्ध डाईथ्य्ल फ्थालाटे जिसको संक्षिप्त में डीइपी कहा जाता है और सुगन्धित परफ्यूम को 4 : 1 के अनुपात में अर्थात 4 लीटर डीइपी में 1 लीटर परफ्यूम मिलाकर इसमें अगरबत्तियों को डुबोकर सुखाने के बाद इसकी पैकिंग की जाती है.

अगरबत्ती को बनाने में रखने वाली सावधानी (Precautions to make Agarbatti)

अगरबत्ती को कभी भी धुप में नहीं सुखाना चाहिए, इसे हमेशा छाया में सुखाये या सुखाने वाली मशीन के माध्यम से इसे सुखायें. इसको सूखने के लिए इसे अलग अलग करके रखे. अगर आपने ऐसा नहीं किया तो गीली होने की वजह से इनके चिपकने की संभवना रहती है.

agarbatti business के लिए रजिस्ट्रेशन (Agarbatti manufacturing business registration)  

इस व्यवसाय को आपको बड़े तौर पर शुरू करने से पहले कुछ आवश्यक दस्तावेजी कारवाई कर लेनी चाहिए जिनमे शामिल है :-

  • सबसे पहले कंपनी के आकार के अनुसार आप आरओसी में अपने व्यवसाय को पंजीकृत करा ले, ऐसा करने से निवेशकों को आपकी कंपनी पर भरोसा आएगा और साथ ही कागजी करवाई में आपको इसका लाभ मिलेगा.
  • अपने व्यवसाय लाईसेंस के लिए स्थानीय प्राधिकारी के पास आवेदन दे.
  • वहाँ से व्यवसाय पैन कार्ड को प्राप्त करे.
  • वर्तमान का एक बैंक अकाउंट खोले.
  • आप अपने व्यापार को एसएसआई यूनिट में पंजीकृत करा ले.
  • इसके बाद वैट रजिस्ट्रेशन के लिए आवेदन करे, साथ ही व्यापार के चिन्ह को पंजीकृत करा ले, ताकि आपकी कंपनी का ब्रांड नाम सुरक्षित रहे.   
  • अगर आप बड़े तौर पर अपने व्यवसाय की शुरुआत करने जा रहे है, तो अपने विनिर्माण यूनिट के लिए प्रदुषण नियन्त्रण बोर्ड से एनओसी प्राप्त कर ले, और फैक्ट्री का लाईसेंस भी प्राप्त कर ले.

अगरबत्ती बनाने के लिए मशीनों का चुनाव (Agarbatti business manufacturing machine)  

आप बड़े या छोटे तौर पर जिस भी रूप में व्यवसाय को शुरू करने की सोच रहे है उसके अनुसार मशीनों का चुनाव करना बहुत आवश्यक है. आमतौर पर अगरबत्ती को बनाने वाली मशीन तीन प्रकार की पाई जाती है जो निम्न है – मैनुअल, ऑटोमेटिक और हाई स्पीड ऑटोमेटिक मशीन. इसके साथ ही कच्चे माल को सूखाने के लिए मशीन, कच्चे माल को मिलाने के लिए भी अलग से मशीन ले सकते है. प्रत्येक मशीन की अपनी एक विशेषता है

  • मैनुअल मशीन : मैनुअल मशीन को ऑपरेट करना बहुत आसान होता है यह डबल और सिंगल पैडल दोनों प्रकार की होती है. इसकी कीमत भी कम होती है साथ ही यह टिकाऊ और बेहतर गुणवता वाली भी होती है. इस तरह के अगरबत्ती बनाने वाले मैनुअल मशीनों की सहायता से अच्छी गुणवता के साथ ही उत्पादन भी बेहतर किया जा सकता है.
  • ऑटोमेटिक अर्थात स्वचालित मशीन : अगर आप अगरबत्ती का बड़ा व्यवसाय करना चाहते है, तो अधिक उत्पादन प्राप्त करने के लिए ऑटोमेटिक मशीन आपके लिए सही विकल्प रहेगा. ये मशीन एक अच्छे पैटर्न, डिजाईन और आकारों में सही होती है, जोकि आपकी आवश्यकताओं के अनुसार बाजार में उपलब्ध है. ऑटोमेटिक मशीन का फ़ायदा ये है कि इस मशीन के द्वारा एक मिनट में 150 से 180 तक अगरबत्ती का उत्पादन किया जा सकता है. इस मशीन में सीधी, गोल और चोकोर प्रकार की स्टिक का उपयोग अगरबत्ती के लिए किया जा सकता है.
  • हाई स्पीड मशीन : इस तरह के मशीन में आपको कम कर्मचारियों की आवश्यकता पड़ेगी. यह पूरी तरह से स्वचालित मशीन होती है. इसके उपयोग से न्यूनतम मजदूरी खर्च पर ज्यादा उत्पादन प्राप्त किया जा सकता है. इस मशीन के माध्यम से एक मिनट में 300 से 450 तक अगरबत्ती स्टिक का उत्पादन किया जा सकता है. इस मशीन में अगरबत्ती की लम्बाई 8 से 12 इंच तक भी रख सकते है.

अगरबत्ती को सुखाने के लिए मशीन (Agarbatti dryer machine)

बाजार में विभिन्न तरह के मॉडल के साथ अगरबत्ती सुखाने वाली मशीन उपलब्ध है. आप इस मशीन को लगा कर 8 घंटे में 160 किलो ग्राम अगरबत्ती को सुखा सकते है, जिससे कम समय में उत्पादन बढ़ जायेगा. यह मशीन लगभग 25 हजार रूपये तक की आ सकती है. लेकिन अगर आप घरेलु रूप से अगरबत्ती का उत्पादन कर रहे है तो आप अगरबत्ती को पंखे के नीचे फैलाकर सुखा सकते है.  

अगरबत्ती के पाउडर को मिलाने वाली मशीन (Agarbatti powder mixer machine)

इस मशीन के माध्यम से सुखी और गीली दोनों तरह के पाउडर का मिश्रण तैयार किया जा सकता है. यह मशीन कई तरह के आकार और अपने उत्पादन क्षमता में कस्टम में उपलब्ध कराई जाती है. इस मशीन की कुल लागत लगभग 32,000 रूपये हो सकती है.

अगरबत्ती बनाने की मशीन कहां मिलती है

मार्किट में अगरबत्ती बनाने की बहुत सी मशीन मिल रही हैं ! अगर आप
मशीन से अगरबत्ती बनाना चाहते हो तो आप यह दिए हुए वेबसाइट की लिंक पर क्लिक
करके इनसे contact करके पूरी जानकारी ले सकते हैं

1 ) Sohamtex Engineers, Suratundefined

Plot No. A- 13/22 – 23, Opposite Calcutta Bearing Near Puspa
Restaurant, Central Road No. 7, Udhna, Udyognagar,
Surat- 394210, Gujarat, India

www.sohammachines.com

2 ) Parth Enterprise, Ahmedabad

No. 3, Jivan Vihar Society, Behind Ram Krishna Party Plot Maninagar East,,
Ahmedabad- 380008, Gujarat, India

www.parthenterprise.org

3 ) Shreeji Incense Stick, Rajkot

Patel Industries Area, Near Natraj Plastic, Dhebar Road, Atika South,
Rajkot- 360002, Gujarat, India

www.indiamart.com/shreejiincensestick

4 ) Jyoti Paper Plate Manufacturing Pvt. Ltd., Delhi

D-248/10, Balaji Complex, Office No. 30, Near Laxminagar Metro
Station, Gate No. 1, Laxminagar,
Delhi- 110092, Delhi, India www.indiamart.com/jyotipaperplate

agarbatti business लाइसेंस के लिए आवेदन करना

अगरबत्ती व्यवसाय शुरू करने के लिए लाइसेंस की आवश्यकता राज्य से राज्य में अलग-अलग होगी, इसलिए व्यवसाय मालिकों को संबंधित राज्य के नियमों और शर्तों को पढ़ना आवश्यक है जिसमें नया व्यवसाय शुरू किया जाना है। अगरबत्ती व्यवसाय शुरू करने के लिए आवश्यक लाइसेंस की लिस्ट निम्नलिखित है:

कंपनी रजिस्ट्रेशन : अगरबत्ती व्यवसाय शुरू करने के लिए सबसे महत्वपूर्ण कदम यह है कि आप ROC के तहत अपनी कंपनी का रजिस्ट्रेशन करें।

EPF रजिस्ट्रेशन : यदि फर्म, कंपनी या मैन्यूफैक्चरिंग यूनिट में 20 से अधिक कर्मचारी हों तो EPF रजिस्ट्रेशन आवश्यक होता है ।

ESI रजिस्ट्रेशन: अगर फर्म के कर्मचारियों की संख्या 10 से अधिक है तो कर्मचारी राज्य बीमा (ईएसआई) रजिस्ट्रेशन की आवश्यकता होती है।

फैक्ट्री लाइसेंस: यदि व्यवसाय के मालिक बड़े पैमाने पर मैन्यूफैक्चरिंग यूनिट स्थापित करने की योजना बना रहे हैं, तो फैक्ट्री लाइसेंस और एनओसी की आवश्यकता होती है।

GST रजिस्ट्रेशन :यह प्रत्येक व्यवसाय धारक के लिए अनिवार्य रजिस्ट्रेशन है, क्योंकि वस्तुओं और सेवाओं के लिए GST नंबर प्राप्त करना अनिवार्य है।

प्रदूषण सर्टिफिकेट: यह राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड से प्राप्त किए जाने वाले सबसे महत्वपूर्ण सर्टिफिकेट में से एक है, क्योंकि यह साइट सर्वेक्षण करता है और यदि आश्वस्त हो, तो व्यवसाय शुरू करने की अनुमति प्रदान करेगा।

SSI रजिस्ट्रेशन : लघु उद्योग पंजीकरण प्राप्त करना अनिवार्य है भले ही फर्म या निर्माण इकाई SSI के अंतर्गत न आए|

ट्रेड लाइसेंस : भारत में किसी भी प्रकार के व्यापार को करने के लिए, व्यापार के मालिकों या व्यापारियों को स्थानीय अधिकारियों से ट्रेड लाइसेंस प्राप्त करने की आवश्यकता होती है। ट्रेड लाइसेंस पंजीकरण और वैधता एक राज्य से दूसरे राज्य में अलग अलग होती है

यह भी पढ़े : sbi personal loan कैसे मिलेगा? sbi personal loan interest rate 2022

अगरबत्ती की पैकिजिंग (Agarbatti manufacturing packaging)

किसी भी वस्तु को खरीदने से पहले ग्राहक उसकी पैकिंग को देखते है. अगर आगरबत्ती की पैकिंग अच्छी हो तो यह ग्राहक को पहली नज़र में खरीदने के लिए आकर्षित करेगी, इसलिए इसकी पैकिजिंग पर विशेष ध्यान देना चाहिए. पैकिंग के बाद इसकी मार्केटिंग आप किसी भी स्टोर में कर सकते है. अगरबत्ती की पैकिंग मशीन या हाथ दोनों के माध्यम से की जाती है. घरेलु रूप में हाथो से अगरबत्ती की गिनती करके इसे पहले प्लास्टिक के पाउच में भर कर फिर कंपनी का लोगो या नाम लगे हुए रंगीन प्लास्टिक या कार्डबोर्ड डब्बे में भरा जाता है.

मशीन के माध्यम से इसकी पैकिंग ऑटोमेटिक रूप से होती है जिसमे अगरबत्तियों की गिनती होते हुए प्लास्टिक पाउच में भरने की प्रक्रिया अपने आप होती है, अन्यथा एक अगरबत्ती की गिनती के लिए मैन्युअल मशीन भी आती है जिससे सिर्फ अगरबत्ती की गिनती होती है बाकि प्रक्रिया हाथों के माध्यम से होती है.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *